राज्य

08Feb
झारखंड 0

चोर-महिमा…..

  शंकर नाथ झा   झारखण्ड में एक मॉब लिंचिंग की घटना हुई थी जिसमे एक शख्स की...

मुनादी

04Jun
मुनादी 0

इस असाधारण जीत के बाद – किशन कालजयी

  किशन कालजयी   सत्रहवीं लोक सभा के लिए हुए चुनाव के नतीजों ने देश और दुनिया...

मुद्दा

navik
15Feb
मुद्दा 0

निषाद कल और वर्तमान : लोकतन्त्र में उसके सरोकार

  सुशान्त मिश्रा   विश्व की किसी भी संस्कृति का विस्तार करने वाले व उसके...

स्तम्भ

17Feb
समाज 0

रिश्ते नाते कहीं खोते जा रहे हैं

   अब्दुल ग़फ़्फ़ार   मां बाप के संस्कार और गुरु उस्ताद के सदाचार पर मोबाइल...

एतिहासिक

05Feb
एतिहासिकदास्तान ए दंगल सिंह 0

दास्तान-ए-दंगल सिंह (91)

  पवन कुमार सिंह    बीएनएम कॉलेज बड़हिया जॉइन करने के बाद मेरा और सुधा का घोर...

आवरण-कथा

18Feb
आवरण कथा 0

छद्म धर्मनिरपेक्षता और नागरिकता का सवाल

  शिवदयाल   बँटवारा उनसे पूछ कर नहीं किया गया था। बँटवारा कैसा और किसका, वे...

अंतर्राष्ट्रीय

19Jun
पर्यावरण 0

बढ़ता तापमान, बढ़ती आबादी, घटता जल, घटता जीवन – राहुल सिंह

  राहुल सिंह   धरती का बढ़ता तापमान जिस ढंग से हमारी चिन्ता का विषय होना...

देश

18Feb
देश 0

हम कौन थे, क्या हो गए हैं, और क्या होंगे अभी

  प्रो. संजय द्विवेदी   हमारे सामाजिक विमर्श में इन दिनों भारतीयता और उसकी...

सिनेमा

13Jul
सिनेमा 2

उद्दाम आदिवासी आकांक्षाओं के कुचलन का नाम है  ‘धुमकुड़िया’ – अनीश अंकुर

  अनीश अंकुर    स्थानीय रंगत लेकर भी कोई कलाकृति कैसे एक व्यापक व वैश्विक...

पुस्तक समीक्षा

02Jul
पुस्तक-समीक्षा 0

दास्तान ए ग़दर – राजीव राय

  राजीव राय   मूल किताब उर्दू में लिखी गई है। अंग्रेज़ी में इसका तरजुमा...

शख्सियत

17Feb
शख्सियत 0

मूकनायक के सौ साल

  सुरेश कुमार   दलित पत्रकारिता का इतिहास उतना ही पुराना है जितना स्वामी...

साहित्य

27Jun
साहित्य 0

लोककथा और बाल साहित्य – रेशमा त्रिपाठी

  रेशमा त्रिपाठी   लोककथा और बाल साहित्य दोनों ही एक दूसरे के पूरक हैं...