‘सबलोग’ के सहयोगी बनें

प्रिय साथियों

जनवरी 2009 से ‘सबलोग’ का प्रकाशन शुरू हुआ था, अपनी बारह वर्षों की यात्रा में इसने देश भर में न सिर्फ अपना विशिष्ट पाठक-वर्ग तैयार किया बल्कि युवा लेखकों की राष्ट्रीय स्तर पर एक सक्षम पीढ़ी भी तैयार की है। इसलिए यह कहना अनुचित नहीं होगा कि समृद्धि, विविधता और व्यापकता की कसौटी पर ‘सबलोग’ के साथ सक्षम लेखकों का एक जीवन्त समूह लगातार अपने खरेपन के साथ सक्रिय है।

गिनती के कुछेक अपवादों को छोड़कर आज तक किसी लेखक ने ‘सबलोग’ से मानदेय की अपेक्षा नहीं की, बल्कि कई लेखकों ने लेखकीय सहयोग के साथ-साथ आर्थिक सहयोग भी किया है। इसलिए ‘सबलोग’ की इस लम्बी यात्रा का श्रेय निस्संदेह रूप से ‘सबलोग’ के प्रतिबद्ध लेखकों को ही है। लम्बी यात्रा के बावजूद ‘सबलोग’ की घोर विफलता यह रही कि विपणन, विज्ञापन और वितरण के मामले में आज तक इसकी कोई टीम नहीं बन सकी और इसलिए इस दिशा में इसे अपेक्षित सफलता नहीं मिली।

ऐसे समय में जब समाज चौतरफे संकट से घिरा हुआ है, अखबारों, पत्र-पत्रिकाओं, मीडिया चैनलों की या तो बोलती बन्द है या वे सत्ता के स्वर से अपना सुर मिला रहे हैं। केन्द्रीय परिदृश्य से जनपक्षीय और ईमानदार पत्रकारिता लगभग अनुपस्थित है; ऐसे समय में ‘सबलोग’ देश के जागरूक पाठकों के लिए वैचारिक और बौद्धिक विकल्प के तौर पर मौजूद है।

‘सबलोग’ को बचाए रखना हमारी वैचारिक जरूरत है। आपमें से भी जो यह मानते हैं कि ‘सबलोग’ का निकलते रहना बौद्धिक पर्यावरण के लिए जरूरी है और पिछले दो तीन वर्षों में आपने ‘सबलोग’ के लिए कोई अर्थसहयोग नहीं किया है तो आपसे अनुरोध है कि तत्काल कुछ करें।

Gpay / Phone pay / Paytm  :-  8292244518

.

SABLOG
A/C No.- 49480200000045
IFSC – BARB0TRDBAD (fifth character is zero)
Bank of Baroda
Branch- Badli, Delhi

आभार एवं अभिवादन के साथ

kishan kaljayee

किशन कालजयी

सम्पर्क : kishankaljayee@gmail.com

.

कमेंट बॉक्स में इस लेख पर आप राय अवश्य दें। आप हमारे महत्वपूर्ण पाठक हैं। आप की राय हमारे लिए मायने रखती है। आप शेयर करेंगे तो हमें अच्छा लगेगा।

Comments are closed.