Category: मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश

 सेंचुरी मजदूरों के समर्थन में मेधा पाटकर का धरना 

 

बरगी बाँध विस्थापित एवं प्रभावित संघ ने आन्दोलन का समर्थन किया

 

 सेंचुरी डेनिम इकाई के श्रमिकों के द्वारा 44 महीने से मध्यप्रदेश के  खरगोन जिले में एबी रोड पर ग्राम  सतराटी  में  आन्दोलन किया जा रहा है। 29 जून 2021 को कारखाना प्रबंधक द्वारा श्रमिक एवं कर्मचारी स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) के संबंध में पत्र लिखकर कहा गया कि 13 जुलाई 2021  तक सभी श्रमिक एवं कर्मचारी वीआरएस ले लें। सेंचुरी डेनिम का यह निर्णय गैरकानूनी है तथा 90 प्रतिशत श्रमिकों को मंजूर नही है।

  ज्ञात हो कि जनता श्रमिक संघ की याचिका के चलते औद्योगिक ट्रिब्यूनल, मध्यप्रदेश हाईकोर्ट और सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश पर  मिल बंद होने के बावजूद श्रमिकों को वेतन दिया जा रहा है। यह भी उल्लेख करना जरूरी है कि कुमार मंगलम बिड़ला समूह ने मिल बेचने का फर्जी विक्रय पत्र बनाकर जो धोखा किया था वह ट्रिब्यूनल और हाई कोर्ट द्वारा खारिज कर दिया गया। श्रमिक  ‘वीआरएस नहीं, रोजगार चाहिए’ संघर्ष कर रहे हैं। कम्पनी ने यह भी निर्णय किया है कि वह मंजीत सिंह को मिल बेच रही है। जबकि उन्हें मिल चलाने का कोई अनुभव नहीं है। यह जमीन हथियाने का मामला है।

  सेंचुरी टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज द्वारा लॉकडाउन के पहले 680 करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया गया, 2019-20 में 360 करोड रुपए मुनाफा कमाया। उसके बावजूद एक हजार श्रमिकों के रोजगार को खत्म करने पर कम्पनी आमादा है। कम्पनी के फैसले के खिलाफ 9 जुलाई 2021 को सेंचुरी भवन (बिरला भवन) मुंबई पर कर्मचारियों द्वारा प्रदर्शन किया गया। जहां प्रबंधन के इशारे पर मेधा पाटकर और साथियों को गिरफ्तार किए कर लिया गया था।

  यह दुखद है कि एटक और इंटक द्वारा बी एम एस के साथ मिलकर  (जिनके  सेंचुरी डेनिम मिल में 10% सदस्य भी नहीं है) द्वारा वीआरएस लेने का समझौता किया गया है। जिसे 90 प्रतिशत से अधिक श्रमिकों एवं कर्मचारियों द्वारा नकार दिया गया है। कानून के मुताबिक प्रबंधन को  राज्य सरकार से सहमति लेना आवश्यक है। बरगी बाँध विस्थापित एवं प्रभावित संघ मध्यप्रदेश सरकार से माँग  करता है कि वह श्रमिकों के रोजगार को बचाने के लिए प्रबंधन की  1000 श्रमिकों और कर्मचारियों  को बेरोजगार करने वाली श्रमिक विरोधी कार्यवाही पर रोक लगाए।

.

उच्च कोटि का हीरा
06Jul
पर्यावरणमध्यप्रदेश

उच्च कोटि का हीरा बनाम उच्च कोटि का पर्यावरण

  पृथ्वी सभी इंसानों की ज़रुरत पूरी करने के लिए पर्याप्त संसाधन प्रदान करती...

करोना के तीसरी लहर
23Jun
मध्यप्रदेशमुद्दा

करोना के तीसरी लहर की तैयारी और बच्चे

  कोरोना की दूसरी लहर धीमी पड़ रही है, लेकिन इसी के साथ ही तीसरे लहर की आहट भी...

02Jun
एतिहासिकमध्यप्रदेश

विदिशा का गौरवशाली अतीत

  विदिशा, मध्य प्रदेश प्रांत में स्थित एक प्रमुख शहर है। यह मालवा के उपजाऊ...

12May
चरखा फीचर्समध्यप्रदेश

डर के कारण जाँच व वैक्सीन से दूर भाग रहे ग्रामीण

  मध्य प्रदेश के गांवों में सन्नाटा पसरा है। ग्रामीण सर्दी, जुकाम, खांसी और...

29Nov
मध्यप्रदेश

गाय और “लव जिहाद” के सहारे शिवराज सरकार

  हमारे समाज में प्रेम विवाह की स्वीकार्यता नही है। ज्यादातर अभिभावक अपने...

07Jul
दिल्लीपंजाबबिहारमध्यप्रदेशराजस्थानहरियाणा

लोकपरिवहन की दुर्दशा

  लोकपरिवहन सुविधा के अभाव में मध्यप्रदेश के लोग बुरी तरह से परेशान हैं।...

12Apr
मध्यप्रदेश

सिंधिया का “धैर्य” और शिवराज का “समय”

  जावेद अनीस   मध्यप्रदेश में शिवराजसिंह चौहान की मुख्यमन्त्री के तौर पर...

24Feb
मध्यप्रदेश

 कलेक्टर : नाम नही मन बदलने की दरकार

  मध्यप्रदेश में सरकार कलेक्टर का नाम बदलने जा रही है। अंग्रेजी हुकूमत के...

19Jul
मध्यप्रदेश

आदिवासी, दलित और अल्पसंख्यकों पर हिंसक हमले – शिवानी तनेजा 

  शिवानी तनेजा    एक तरफ जहाँ देश ने भाजपा सरकार को ज़बरदस्‍त जनादेश दिया है,...