हरियाणा

दोबारा सत्ता में आने की कोशिश में लगी हरियाणा सरकार – सोनू झा

 

  • सोनू झा 

 

हरियाणा इस वक्त चुनावी साल में है। मनोहर लाल बीजेपी को दोबारा सत्ता में लाने की पूरी मेहनत में जुटे हैं। जनता को चुनावी घोषणाओं को सौगात दी जा रही है। और कर्मचारियों भी तोहफे दिये जा रहे हैं। दरअसल प्रदेश में हर वर्ग के कर्मचारी कमोबेश इस वक्त सरकार से नाराज है। कई बार प्रदर्शन भी कर चुके हैं। सरकार को डर है कि चुनावी मौसम में अगर प्रदर्शन तेज हुआ तो कांग्रेस वाला हाल ना हो जाए..जैसा 2014 में कांग्रेस के साथ हुआ था। यही वजह थी की कर्मचारियों को एकजुट करने के लिए सीएम मनोहर लाल सर्वकर्मचारी संघ से बैठक करने पहुंचे। बैठकों का दौर चला, सरकार ने कई घोषणाएं भी की लेकिन कर्मचारियों से हर मसले पर सहमति नहीं बन पाई। बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सीएम मनोहर लाल ने कर्मचारियों को खुश करने की पूरी कोशिश की।

चुनावी साल में कर्मचारियों पर ‘मनोहर’ मेहरबानी !
सीएम मनोहर लाल ने 1 अगस्त 2019 से HRA लागू करने की घोषणा की, 1996 से रुके एक्सग्रेसिया को भी 1 अगस्त 2019 से लागू करने की घोषणा की गई। 52 साल या उससे कम की उम्र में मृत्यु होने पर कर्मचारी के परिजन को नौकरी मिलेगी। वो भी ग्रुप सी और डी में।

कर्मचारियों को बीमा
मनोहर सरकार ने कर्मचारियों को कई बीमारियों में कैशलेस स्कीम के तहत बीमा देने का ऐलान किया है। पहले 7 तरह की बीमारियों को कैशलेस स्कीम से जोड़ा गया था। अब इसमें इजाफा किया गया है। इसके अलावा जोखिम भरे काम करने वाले कर्मचारियों को बिना प्रीमियम 10 लाख बीमा देने का ऐलान भी किया। जिसमें सफाई कर्मचारी भी शामिल हैं। इतना ही नहीं मनोहर सरकार ने सहकारी बैंकों में कर्मचारियों की पदोन्नति की बात भी कही।

रोडवेज के लिए ‘मनोहर’ घोषणाएं
सीएम मनोहर लाल ने साफ किया की हरियाणा परिवहन में किलोमीटर स्कीम बंद नहीं होगी। इसके अलावा 510 बसों के टेंडर के मामले में सीएम ने साफ किया कि विजिलेंस रिपोर्ट में जिनमें कमी मिली है वो टेंडर रद्द कर दिये गये हैं और गलती करने वालों के खिलाफ क्रिमिनल केस दर्ज करेंगे। इसके अलावा रोडवेज के बेड़े में बसें शामिल करने की बात भी मनोहर लाल ने दोहराई। उन्होंने कहा कि 190 बसें किलोमीटर स्कीम के तहत फाइनल हो चुकी है और 867 और बसें शामिल की जाएंगी

7वां वेतन आयोग लागू करने वाला पहला राज्य हरियाणा
7 वें वेतन आयोग को लागू करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा ऐसा करने वाला देश का पहला राज्य बन चुका है। सीएम ने साफ किया कि प्रदेश में समान काम समान वेतन लागू किया गया है जिससे कर्मचारी खुश हैं।

कच्चे कर्मचारियों को राहत
सीएम मनोहर लाल ने कहा कि 21 हजार गेस्ट टीचर्स को नहीं निकाला जाएगा। कच्चे कर्मचारियों को सरकारी आदेश के बाद भी नहीं हटाया जाएगा, हमने उन्हें अतिरिक्त अंक देने की व्यवस्था शुरू की है। ठेके वाले कर्मचारियों के लिए जिला उपायुक्त के पास 1 करोड़ रुपये रहेंगे। हालांकि सरकार ने ये भी साफ कर दिया है कि कच्चे कर्मचारियों को पक्का भी नहीं किया जाएगा। वहीं बिजली विभाग के कर्मचारियों की 12 दिन की हड़ताल के पैसे नहीं काटने का भी ऐलान किया लेकिन 12 दिन की छुट्टी काट ली जाएगी।

पुलिस कर्मचारियों को सुविधाएं
मनोहर लाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पुलिस कर्मचारियों को हफ्ते में 1 दिन छुट्टी का भी जिक्र किया, उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मचारियों को सप्ताह में एक दिन की छुट्टी मिलेगी, साथ ही चिकित्सा भत्ता 500 से 1000 रुपये करने का भी ऐलान किया, इसके अलावा चौकीदारों का मानदेय 7000 करने का भी ऐलान सीएम मनोहर लाल ने किया।

पंजाब से बेहतर हरियाणा का वेतनमान
हालांकि हरियाणा के कर्मचारी पंजाब के समान वेतन की मांग पर कई बार प्रदर्शन कर चुके हैं लेकिन सीएम मनोहर लाल का कहना है कि हरियाणा का वेतन मान पंजाब से अच्छा है, पेंशन स्कीम में पंजाब हरियाणा से पीछे है। सीएम मनोहर लाल ने कहा कि पंजाब में न्यूनतम पेंशन 3500 है और हरियाणा में 9000, उन्होंने कहा कि पंजाब के कर्मचारी हरियाणा जैसी सेवाएं मांगते हैं। पंजाब में कर्मचारियों की सैलरी 6-6 महीने तक नहीं मिलती। पुरानी पेंशन स्कीम पर बोलते हुए सीएम ने कहा कि पुरानी पेंशन केंद्र का विषय है, केंद्र तक बात पहुंचा देंगे।

अशोक अरोड़ा से मुलाकात पर बोले सीएम
इस दौरान सीएम मनोहर लाल अशोक अरोड़ा और रामपाल माजरा से मुलाकात पर कहा कि मुझसे कई लोग रोजाना मिलते हैं। कैप्टन अमरिंदर और अरविंद केजरीवाल भी मिलते हैं। ये मुलाकात ऐसे ही होती है । दरअसल इनेलो के इन दोनों नेताओं के बीजेपी में शामिल होने की अटकलों का बाजार गर्म है इससे पहले भी अशोक अरोड़ा सीएम से दिल्ली के हरियाणा भवन में मिल चुके हैं।

नशे पर सख्त सीएम मनोहर लाल
सीएम मनोहर लाल ने हरियाणा में पैर पसार रहे नशे पर कहा कि हमारे युवा नशे की गिरफ्त जा रहे हैं। 2018 में हमने नशे को लेकर बैठक बुलाई थी, इस बार 25 जुलाई को 8 प्रदेशों के मुख्यमंत्री नशे को लेकर बैठक करेंगे और इस बार बैठक पंजाब में होगी। नशे के मसले पर हम गंभीर हैं।

पानी की कमी पर भी बोले सीएम
हालांकि मॉनसून के मौसम में बारिश हो रही है लेकिन हरियाणा में औसत से कम बारिश हुई है। सीएम मनोहर लाल ने कहा कि बारिश की हमें और जरूरत है, क्योंकि वाटर लेवल बहुत नीचे जा चुका है।

मेरी फसल, मेरा ब्यौरा
सीएम मनोहर लाल ने प्रदेश के किसानों की आमदनी को दोगुना करने की दिशा में मेरी फसल मेरा ब्यौरा य़ोजना लागू की है। सीएम ने कहा कि इस योजना के तहत जमीन के हिसाब से हर 6 महीने में ब्यौरा देना होगा। 1 लाख 37 हजार के करीब किसान पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर चुके हैं।

18 अगस्त से आंदोलन करेंगे कर्मचारी !
कुल मिलाकर सीएम मनोहर लाल ने कर्मचारियों को साधने की पूरी कोशिश की है लेकिन इस बैठक से कर्मचारी संगठन सहमत नही हैं, बैठक के बाद सर्वकर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने कहा कि अहम मांगों को सरकार मानने को तैयार नहीं है इसलिए आंदोलन जारी रहेगा। 18 अगस्त को पंचकूला से अगले आंदोलन की घोषणा की जाएगी।

लेखक टीवी पत्रकार हैं|

सम्पर्क- +917827978234

.

Facebook Comments
. . .
सबलोग को फेसबुक पर पढ़ने के लिए पेज लाइक करें| 

लोक चेतना का राष्ट्रीय मासिक सम्पादक- किशन कालजयी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *