पंजाब

AAP सरकार का एक साल, सीएम बोले लोगों की उम्मीदें भरोसे में तब्दील

 

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने अपनी सरकार का पिछले एक साल में पंजाब के अभूतपूर्व विकास का पहला चरण सफलतापूर्वक मुकम्मल करने का दावा किया। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने वीडियो संदेश में कहा कि हम अपनी  अगली सरकार बनाने के लिए नहीं, बल्कि भावी पीढ़ियों की ख़ुशहाली के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं।

अगली सरकार के लिए नहीं, भावी पीढ़ी के लिए कर रहे काम

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने अपनी सरकार के कार्यकाल का एक वर्ष पूरा होने पर पंजाबियों के लिए वीडियो संदेश जारी किया। जिसमें उन्होंने कहा कि पिछले साल हुए विधानसभा मतदान के दौरान राज्य के लोगों ने आम आदमी पार्टी के पक्ष में व्यापक जनादेश दिया। उन्होंने बताया कि सरकार की तरफ से लोगों के समूचे विकास एवं ख़ुशहाली के लिए की गई समर्पित कोशिशों से पिछले एक साल के दौरान राज्य क्रांतिकारी परिवर्तनों का गवाह बना है। भगवंत मान ने कहा कि अगली सरकार बनाने के लिए जोड़-तोड़ करने वाली पिछली सरकार के विपरीत हमारी सरकार भावी पीढ़ी के समूचे विकास पर ध्यान केन्द्रित कर रही है।

मुख्यमंत्री ने बड़े पैमाने पर जनादेश के साथ-साथ पंजाब की ज़िम्मेदारी सौंपने के लिए लोगों का तह-ए-दिल से धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि लोगों की तरफ से दिखाए भरोसे और प्यार ने उनको अपना फ़र्ज़ प्रभावशाली तरीके से निभाने का मार्ग प्रशस्त किया है। भगवंत मान ने नये पंजाब के खाका तैयार करने के लिए लोगों का और ख़ास तौर पर प्रवासी भारतीयों से सहयोग माँगा।

बादल कैप्टन की नहीं, हर पंजाबी की सरकार

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब में पहली दफ़ा ऐसी सरकार बनी, जो ख़ास तौर पर राज्य के लोगों के साथ सम्बन्धित है। उन्होंने कहा कि यह सरकार न तो बादल की है और न ही कैप्टन की, यह सरकार हर पंजाबी की है। भगवंत मान ने लोगों को भरोसा दिया कि उनकी आशाओं के मुताबिक राज्य की भलाई यकीनी बनाने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी और जल्दी ही पंजाब नया, प्रगतिशील और गतिशील राज्य बनेगा।

विकास के लिए उद्योगों को रियायतें

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले साल के दौरान पंजाब व्यापक विकास का गवाह बना है और दूसरे साल में भी विकास एवं तरक्की पर अधिक ज़ोर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि राज्य में विकास के लिए उद्योग को रियायतें दीं जा रही हैं, जिससे पंजाब आगामी दिनों में औद्योगिक गढ़ के तौर पर उभरेगा। भगवंत मान ने कहा कि राज्य में से नशों को जड़ से उखाड़ने के लिए आगामी दिनों में व्यापक मुहिम शुरु की जाएगी।

नौजवानों के लिए पारदर्शी तरीके से नौकरियां

पिछले एक साल में पंजाब सरकार की तरफ से कई जनहितैषी पहलकदमियां गिनाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने नौजवानों के विदेशों की तरफ जाने के रुझान को रोकने के लिए पिछले एक साल में अब तक 26 हजार 797 सरकारी नौकरियाँ दी हैं। उन्होंने कहा कि इस समूची भर्ती प्रक्रिया में एकमात्र मापदंड योग्यता रखा गया है और यह पूरी प्रक्रिया पारदर्शी तरीके के साथ सम्पूर्ण की जा रही है। भगवंत मान ने कहा कि सिर्फ़ एक साल में ही इतनी बड़ी संख्या में नौकरियाँ देने से राज्य सरकार की रोज़गार के मौके मुहैया करके नौजवानों की भलाई यकीनी बनाने की वचनबद्धता झलकती है।

मुफ्त बिजली देने का वादा पूरा

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आगे कहा कि राज्य सरकार ने पहली जुलाई से हर महीने 300 यूनिट मुफ़्त बिजली देने की गारंटी पूरी की है। उन्होंने कहा कि यह गौरव की बात है कि नवंबर-दिसंबर 2022 में राज्य के 87 प्रतिशत घरों में बिजली का बिल ज़ीरो आया। भगवंत मान ने कहा कि वह आम परिवार से सम्बन्धित हैं और वह आम लोगों को आ रही समस्याओं से भलीभाँति परिचित हैं।

किसानों को 30 हज़ार रुपए प्रति एकड़ अतिरिक्त आमदनी

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने 14 हज़ार आरज़ी कर्मचारियों की सेवाओं को रेगुलर किया है और कैबिनेट ने इतनी संख्या में ही और मुलाजिमों की सेवाएं रेगुलर करने की मंज़ूरी दी है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने किसानों को गेहूँ और धान के फ़सली चक्र में से निकालने और भूजल बचाने के लिए मूँगी को तीसरी फ़सल के तौर पर उत्साहित किया है। भगवंत मान ने कहा कि मूँगी की 7275 रुपए के प्रति क्विंटल के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद की गई है, जिससे किसानों को 30 हज़ार रुपए प्रति एकड़ की अतिरिक्त आमदनी हुई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने धान की सीधी बुवाई को उत्साहित करने के लिए किसानों को 1500 रुपए प्रति एकड़ की दर के साथ वित्तीय सहायता मुहैया की है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने गन्ना उत्पादकों के पिछले सालों के लटकते सभी बकायों का भुगतान कर दिया है। भगवंत मान ने यह भी कहा कि मेरी सरकार ने पहली बार दैनिक वेतन भोगी श्रमिकों के मेहनतानों में विस्तार किया है।

दिल्ली की तर्ज पर आम आदमी क्लीनिक खोले

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि राज्य सरकार ने लोगों को मानक सेहत सेवाएं देने के लिए पंजाब भर में 500 से अधिक आम आदमी क्लीनिक खोले हैं। यह क्लीनिक लोगों को मानक इलाज और डाईगनौस्टिक सेवाएं मुफ़्त मुहैया करवा रहे हैं। भगवंत मान ने कहा कि सिर्फ़ कुछ महीनों में ही इन आम आदमी क्लीनिकों से 12 से 15 लाख मरीज़ों को लाभ मिला है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चों को मानक शिक्षा देने के लिए 23 जिलों में 117 स्कूल आफ एमिनेंस स्थापित किये गए हैं। भगवंत मान ने कहा कि यह स्कूल विद्यार्थियों को भविष्य की मुकाबले वाली परीक्षाओं के लिए तैयार करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य के समूचे विकास के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी और वह दिन दूर नहीं, जब पंजाब की पुरातन शान बहाल होगी।

बेअदबी के दोषियों को सज़ा देने की अपनी सरकार की वचनबद्धता दोहराते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह पहला मौका है, जब राज्य सरकार ने इस दिशा में कदम उठाया है। उन्होंने बताया कि इन मामलों में इंसाफ़ बहुत दूर नहीं क्योंकि दोषियों को सख़्त से सख़्त सज़ा दिलाने के लिए अदालत में पहले ही चालान पेश किया जा चुका है। भगवंत मान ने कहा कि वह दिन अब दूर नहीं, जब इस घृणित जुर्म के दोषी सलाखों के पीछे होंगे

.

Show More

सबलोग

लोक चेतना का राष्ट्रीय मासिक सम्पादक- किशन कालजयी
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x