पेंशन की समाप्ति और वर्चस्व की राजनीति