Tag: मिलिट्री ऑपरेशन

चर्चा में

भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक 2 कर आतंकियों को एक बार फिर मुंहतोड़ जवाब दिया

  • तमन्ना फरीदी

भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक 2 कर आतंकियों को एक बार फिर मुंहतोड़ जवाब दिया है. पुलवामा  में हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने आतंकियों को सबक सिखाने के लिए उनके कैंप पर हमला किया. भारतीय वायुसेना ने सोमवार की देर रात 3.30 बजे (मंगलवार सुबह 3.30 बजे)  मिराज 2000 फाइटर प्लेन से पाकिस्तान के बालकोट में स्थित आतंकियों के ठिकाने पर 1000 किलो बम बरसाएं. सरकारी सूत्रों के अनुसार वायुसेना की बड़ी कार्रवाई में करीब 300 आतंकवादी मारे गए हैं और इसमें जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अज़हर का बहनोई यूसुफ अज़हर भी मारा गया है जो यह कैंप चला रहा था. भारतीय वायुसेना का ये ऑपरेशन (IAF Operation) 20 मिनट तक चला और सारे विमान सुरक्षित लौट आए. भारतीय वायुसेना के किसी भी विमान को एक भी खरोंच नहीं आई हैं. विदेश सचिव विजय गोखले ने प्रेस वार्ता कर बताया, “बालाकोट का कैम्प जैश-ए-मोहम्मद का सबसे बड़ा कैम्प था… इसे जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अज़हर का बहनोई यूसुफ अज़हर संचालित कर रहा था, जो मारा गया है… ऑपरेशन का निशाना खासतौर से आतंकी अड्डे को बनाया गया था, ताकि नागरिकों को नुकसान न हो…” उन्होंने कहा कि यह ऑपरेशन पूरी तरह आतंकियों के खिलाफ था, न कि कोई मीलिट्री ऑपरेशन. 
पुलवामा हमले के बाद आतंकी कैंपों को बालाकोट के 5 स्टार कैंपों में शिफ्ट कर दिया गया था, लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ। 350 आतंकी नींद में ही ढेर हो गए। सर्जिकल स्ट्राइक 2  का ,न तो पाकिस्तान की एजेंसियों को और न ही जैश को अंदाजा था।
यह कैंप बालाकोट शहर से करीब 20 किमी. दूर है और इसका इस्तेमाल आतंकियों को सख्त ट्रेनिंग देने में किया जाता है। ट्रेनिंग देने का काम पाकिस्तान सेना के रिटायर्ड अधिकारी करते हैं। मसूद अजहर और दूसरे आतंकी सरगना यहां अकसर भारत विरोधी उकसाने वाले भाषण दिया करते हैं।
सूत्र बताते हैं कि जैश के आने से पहले इस कैंप का इस्तेमाल हिजबुल मुजाहिदीन किया करता था।
बालाकोट कैंप में आतंकियों को दौर ए खास ट्रेनिंग दी जाती थी जहां आतंकी आधुनिक हथियारों, विस्फोटकों के साथ सुरक्षाबलों के काफिले पर हमले के तरीके सीखते थे। इसके अलावा इन्हें आईईडी बनाना, सुसाइड बम तैयार करना, विपरीत हालात में टिके रहने जैसी ट्रेनिंग दी जाती थी।
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वायुसेना को बधाई देते हुए ट्वीट किया है – “मैं भारतीय वायुसेना के पायलटों को सलाम करता हूं।”
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी भारतीय सेना के इसके लिए बधाई दी है।
उन्होंने कहा है, “मैं भारतीय वायुसेना के पायलटों की बहादुरी को सलाम करता हूँ जिन्होंने पाकिस्तान में आतंक के निशानों पर हमला कर हमारा गौरव बढ़ाया है।”
कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने ट्वीट किया है, ”यह मोदी का हिंदुस्तान है, घर में घुसेगा भी और मारेगा भी. भारतीय वायुसेना ने आज सुबह एलओसी में बने आतंकी ठिकानों को पूरी तरह तबाह कर दिया. एक एक क़तरा ख़ून का हिसाब होगा। ये तो एक शुरुआत है, ये देश नहीं झुकने दूंगा।”
नेशनल कॉन्फ़्रेंस के अध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने कहा, “अगर ये केपीके का बालाकोट है तो ये भारतीय वायुसेना के विमानों की बहुत बड़ी कार्रवाई है। लेकिन यदि ये पूँछ सेक्टर का बालाकोट है, जो कि LOC से लगा है तो ये मोटे तौर पर एक सांकेतिक हमला है क्योंकि साल के इस समय चरमपंथियों के कैंप ख़ाली और निष्क्रिय होते हैं।”
बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर लिखा है, ”अगर सेना को पहले ही फ्री हैंड दे दिया जाता तो पठानकोट, उरी और पुलवामा जैसे घटनाएं नहीं होतीं और इतने जवान शहीद न होते।”

लेखिका सबलोग के उत्तरप्रदेश ब्यूरो की प्रमुख हैं|

सम्पर्क- +919451634719, tamannafaridi@gmail.com