चेतन सोरेन

  • झारखंड

    जादूगोड़ा यूरेनियम खनन के दुष्प्रभाव

    जादूगोड़ा झारखण्ड के पूर्वी सिंहभूम जिले में टाटानगर से 25 किमी दूर अवस्थित है। एक समय यह इलाका जंगल-झाड़ियों से भरा पड़ा था। इस क्षेत्र में जाड़ा नाम का वृक्ष बहुतायत में था। इसी क्षेत्र में प्राकृतिक रूप से रे़डियो…

    Read More »
  • झारखंड

    हाथी जैसा पर्व सोहराय

          भारत एक विभिन्न जातियों एवं संस्कृतियों का धर्मनिरपेक्ष देश है। यहाँ भिन्न-भिन्न मूलनिवासी या जनजातिय समुदाय निवास करते हैं। भारत में जनसंख्या की दृष्टि से गोंड और भील आदिवासी समुदाय के बाद तीसरा बड़ा समुदाय है संथाल…

    Read More »
Back to top button