आर्थिकी

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का लाभ के लिए पंजीकरण करें – पुरुषोत्तम गुप्ता

 

  • पुरुषोत्तम गुप्ता 

 

नौहट्टा प्रखंड अंतर्ग्रत भाजपा आईटी सेल अधयक्ष पुरुषोत्तम गुप्ता ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा बजट 2019 में प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन स्कीम की घोषणा हुई है, जिसका मकसद असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को मासिक 3,000 रुपये का पेंशन देना है। इसके लिए पात्र श्रमिकों का पंजीकरण किया जा रहा है। योजना के तहत असंगठित क्षेत्र जैसे, स्ट्रीट वेंडर, रिक्शा चालक, निर्माण श्रमिक, घरेलू नौकर, खेतीबाड़ी मजदूर, हैंडलूम श्रमिक, धोबी, मोची,भट्ठा श्रमिक, रसोइंया, भूमिहीन मजदूर, कृषि श्रमिक, आदि वो सभी श्रमिक इस योजना के पात्र हैं, जिनकी आयु 18 से 40 वर्ष तक है और मासिक आय 15 हजार रुपये तक है। और असंगठित क्षेत्र में कार्य करने वाले कर्मिक जो आयकर दाता नहीं हैं और ईपीएफ, ईएसआईसी, एनपीएस आदि से जुड़े हुए नहीं हैं ऐसे श्रमिक माध्यम से इस योजना में शामिल हो सकते हैं। आपको इसके लिए कितनी रकम का योगदान करना है यह आपकी आयु के हिसाब से तय होगा। यदि कोई 18 साल की उम्र से इस स्कीम को शुरू करता है तो उसे हर महीने 55 रुपए जमा करना होंगे। 29 साल की उम्र वाले कामगारों को हर महीने 100 रुपए और 40 साल की उम्र वालों को 200 रुपए का योगदान देना पड़ेगा। 18 साल से 40 साल तक की उम्र वाले मानधन योजना में शामिल हो सकेंगे। और 60 वर्ष पूर्ण होने पर 3 हजार रुपए मासिक पेंशन का लाभ सरकार द्वारा दिया जाएगा। आईटी सेल अध्यक्ष पुरुषोत्तम गुप्ता ने उक्त प्रकार के सभी असंगठित क्षेत्रों के मजदूरों से अपील किया है की अपने निकटवर्ती सीएससी सेंटर में अपना आधार कार्ड, बैंक की काॅपी व मोबाइल फोन साथ ले जाकर उक्त योजना का लाभ उठाएं। साथ ही बताया कि इस योजना को लेकर यदि किसी श्रमिक को किसी प्रकार का संशय हो तो वह बेझिझक श्रम विभाग के कार्यालय में संपर्क कर सकता है। इसके अलावा इस योजना संबंधी जानकारी के लिए टोल फ्री नंबर- 18002676888 पर भी संपर्क किया जा सकता है।

श्रम योगी मान-धन योजना के तहत खाता खुलवाने में आप घर में काम करने वालों के अलावा आसपास रेहड़ी लगाने वाले दुकानदार, ड्राइवर, प्लंबर इत्यादि की मदद कर सकते हैं, यहां हम सदस्य का खाता खुलवाने से जुड़ी तमाम जानकारी दे रहे हैं।

कौन बन सकता है स्कीम का हिस्सा?

इस स्कीम से जुड़ने के लिए कुछ शर्तें हैं:
1. व्यक्ति असंगठित क्षेत्र में काम करता हो.
2. उम्र 18 साल से 40 साल के बीच हो.
3. मासिक आमदनी 15,000 रुपये से ज्यादा नहीं हो.

किन दस्तावेजों की जरूरत?

स्कीम में एनरोलमेंट के लिए इन दस्तावेजों की जरूरत होती हैं:
1. आधार कार्ड
2. IFSC के साथ सेविंग बैंक अकाउंट/जन-धन अकाउंट
3. वैध मोबाइल नंबर

कैसे करें आवेदन?

स्कीम के तहत आवेदन के लिए व्यक्ति को नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर जाना होगा. सभी दस्तावेजों को साथ ले जाना नहीं भूलें. सुनिश्चित कर लें कि सेविंग अकाउंट पासबुक पर आईएफएससी कोड प्रिंट हो।

नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर का पता लगाने के लिए एलआईसी, इएसआईसी और इएफपीओ के ब्रांच ऑफिस के अलावा केंद्र और राज्य सरकार के श्रम कार्यालय जा सकते हैं।

सेंटर पर व्यक्ति को सेल्फ-सर्टिफाइड फॉर्म के साथ ऑटो-डेबिट सुविधा के लिए कंसेंट फॉर्म जमा करना होगा. ये दोनों ही फॉर्म सीएससी पर मिलेंगे।

व्यक्ति को सेंटर पर ये फॉर्म भरने होंगे. आधार कार्ड और पासबुक के ब्योरे के अनुसार इसमें जानकारी देनी होगी. सत्यापन के लिए व्यक्ति के मोबाइल नंबर पर वन-टाइम पासवर्ड भेजा जाएगा।

कितना कर सकते हैं कॉन्ट्रिब्यूशन?

उम्र के अनुसार कोई व्यक्ति स्कीम में कॉन्ट्रिब्यूशन कर सकता है. कॉन्ट्रिब्यूशन की रकम पूरी अवधि के दौरान एक रहती है. यह रकम मासिक आधार पर अपने आप सेविंग बैंक अकाउंट से कट जाएगी. सदस्यता के लिए पहला योगदान कैश में करना पड़ता है।

कैसे पूरी होती है प्रक्रिया?

केंद्र पर एनरोलमेंट की प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद स्कीम के तहत ऑनलाइन पेंशन नंबर जेनरेट होगा. CSC पर व्यक्ति को पेंशन स्कीम कार्ड म‍िलेगा. इसमें नाम, पेंशन शुरू होने की तारीख, मासिक पेंशन की रकम, पेंशन अकाउंट नंबर इत्यादि का विवरण होगा।

पुरुषोत्तम गुप्ता

लेखक भाजपा आईटी सेल से जुड़ें हुए है व केंद्र सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को आमजन तक पहुचातें है।

Facebook Comments
. . .
सबलोग को फेसबुक पर पढ़ने के लिए पेज लाइक करें| 

लोक चेतना का राष्ट्रीय मासिक सम्पादक- किशन कालजयी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *