चर्चा मेंराजनीति

क्या कॉंग्रेस की आक्रामक नीति से घबराई भाजपा ?

 

  • तमन्ना फरीदी

कांग्रेस की महासच‍िव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्र‍ियंका गांधी अपने ‘पर्सनल टच’ अभियान में लग गई हैं. सोमवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 5 घंटे के रोड शो के बाद अब वे जमीनी कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत कर रही हैं. आजतक से खास बातचीत में कार्यकर्ताओं ने बताया क‍ि प्र‍ियंका के इस अंदाज को सभी बहुत पसंद कर रहे हैं.
कांग्रेस महासच‍िव प्रियंका गांधी के लखनऊ दफ्तर में बैठकर कार्यकर्ताओं से पार्टी की जमीनी हकीकत जानने की कोशिश छोटे-बड़े कार्यकर्ताओं को भा रही है. आज प्रियंका गांधी ने इलाहाबाद, कौशाम्बी, उन्नाव, रायबरेली, मोहनलालगंज और लखनऊ के प्रतिनिधियों से मुलाकात की.
प्र‍ियंका गांधी को सौंपे गए पूर्वी उत्तर प्रदेश के हर लोकसभा क्षेत्र से करीब 18 से 22 लोगों के एक प्रतिनिधिमंडल ने उनसे मुलाकात की. हर जिले से मिलने वाले लोगों की सूची बनाने की जिम्मेवारी ज‍िला कांग्रेस कमेटी की थी. इसमें जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष, पूर्व जिला अध्यक्ष, विधायक, पूर्व विधायक, जिला पंचायत प्रमुख, लोकसभा के राज्य और एआईसीसी के अधिकारी सहित जिला मीडिया प्रभारी, जिला संयोजक सरीखे नेता शाम‍िल हुए जो अपने जिले की जमीनी हकीकत बयां कर रहे हैं.
इससे पूर्व कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्षों और विधायक दल के नेताओं की दिल्ली में बैठक हुई थी इस बैठक मे 2019 लोकसभा चुनावों की रणनीति पर चर्चा हुई. राज्यों में मौजूदा राजनीतिक हालात के रिपोर्ट लिए गए और जल्द से जल्द उम्मीदवारों के चुनाव की प्रक्रिया पूरी करने को कहा गया. कांग्रेस ने बयान जारी कर कहा है कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार की किसान विरोधी, महिला विरोधी, युवा विरोधी नीतियों को सबके के सामने लाने के लिए कहा और बेरोजगारी और किसानों के दुख को भी उजागर करने को कहा. कांग्रेस की जनता के लिए नीतियों को सोशल मीडिया और कैंपेन के ज़रिए सब तक पहुंचाने को कहा. इस बैठक में राहुल ने एक बार फिर ये साफ़ कर दिया कि कांग्रेस का रुख़ आक्रामक ही रहेगा. आत्मसम्मान से समझौता नहीं होगा.
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी की प्रदेश इकाइयों के प्रमुखों एवं विधायक दल के नेताओं से कहा कि वे अपने राज्यों में भाजपा के खिलाफ आक्रामक रुख अपनाएं और बेरोजगारी, कृषि संकट और केंद्र की दूसरी विफलताओं से जनता को अवगत कराएं।
लोकसभा चुनाव के ऐलान से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जनता को लुभाने के लिए ताबड़तोड़ ऐलान और वादे कर रहे हैं. लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष की ओर से किए जा रहे वादे सिर्फ हवा में ही नहीं किए जा रहे हैं. इन वादों के पीछे डाटा और चुनावी गुणाभाग का पूरा इस्तेमाल किया जा रहा है और इनको चुनावी घोषणापत्र भी शामिल किया जाएगा.
वैसे कांग्रेस लोकसभा चुनाव की लड़ाई राहुल बनाम मोदी बनाने का प्रयास करेगी और राहुल अब मोदी के खिलाफ बने गुस्से को देशभर में भुनाने की कोशिश करेंगे। इस रणनीति का कितना असर होगा ये तो चुनाव परिणाम से साबित हो जायेगा वही दूसरी और भाजपा कांग्रेस की रणनीति राहुल बनाम मोदी की गिरफ्त में नज़र आ रही है कल तक कमज़ोर कांग्रेस और राहुल गाँधी को पप्पू कहने और समझने वाले भाजपा नेता जिस तरह राहुल गाँधी, प्रियंका गाँधी को गम्भरीता पूर्व लेकर आक्रामक हमले कर रहे है उससे लगता है कि अब भाजपा को कांग्रेस से डर लग रहा है।

लेखिका सबलोग के उत्तर प्रदेश ब्यूरो की प्रमुख हैं|

सम्पर्क- +919451634719, tamannafaridi@gmail.com

.

.

.

सबलोग को फेसबुक पर पढने के लिए लाइक करें|

लोक चेतना का राष्ट्रीय मासिक सम्पादक- किशन कालजयी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat